बिहार

रेप से पहले लड़कियों को खिलाई जाती थी एेसी चीज, जांचकर्ता भी हैरान

बिहार में जुर्म रुकता नजर नहीं आ रहा है। बिहार में बालिका गृह में भी बच्चियां सुरक्षित नहीं हैं।

बिहार। बिहार में जुर्म रुकता नजर नहीं आ रहा है। बिहार में बालिका गृह में भी बच्चियां सुरक्षित नहीं हैं। बिहार के मुजफ्फरपुर बालिक गृह में बच्चियों के साथ यौन शोषण के मामले में जांचकर्ताओं के सामने बेहद चौंकानेवाली चीजें सामने आ रही हैं। जांचकर्ताओँ का ऐसा मानना है कि लड़कियों का यौन शोषण करने से पहले रोज उन लड़कियों को नशीली दवाएं दी जाती थी। जांचकर्ताओं का यह अनुमान पटना मेडिकल कॉलेज हस्पीटल (पीएमसीएच) की तरफ से किए गए निरीक्षण के वक्त 29 लड़कियों की तरफ से किए सनसनीखेज खुलासे के बाद किया गया है। पूछताछ के दौरान डॉक्टरों के सामने लड़कियों ने बताया कि दीदी रोज डिनर के बाद उन्हें टैबलेट खाने के लिए देती थी।

जांचकर्ताओं के मुताबिक, उन लड़कियों ने बताया कि जैसे ही वह रात को सोने के लिए जाती थी उनके सामने कठिन परीक्षा की घड़ी शुरू हो जाती थी। उसके बाद वे फौरन पेट दर्द या फिर अन्य जगहों पर दर्द के बाद उठ जाती थी। हालांकि, डॉक्टरों ने उन दवाओं पर कोई टिप्पणी नहीं की क्योंकि लड़कियां उन दवाओँ का नाम नहीं जानती है।

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में एक बालिका गृह में बच्चियों से कथित उत्पीड़न मामले में सीबीआई ने जांच अपने हाथ में ले ली है। एक अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी। सीबीआई ने बालिका गृह के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सीबीआई के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘आरोप है कि सेवा संकल्प एवं विकास समिति द्वारा संचालित बालिका गृह के अधिकारियों/कर्मचारियों ने यहां रह रही बालिकाओं का मानसिक, शारीरिक एवं यौन उत्पीड़न किया। मामला तब सामने आया, जब इस साल के शुरू में मुंबई स्थित एक संस्थान द्वारा किए गए बालिका गृह के सोशल ऑडिट के आधार पर बिहार सामाजिक कल्याण विभाग ने एक प्राथमिकी दर्ज कराई।

ऑडिट रिपोर्ट में कहा गया है कि बालिका गृह में कई लड़कियों ने यौन उत्पीड़न की शिकायत की है। शिकायतों की जांच के लिए एक विशेष जांच दल का गठन किया गया है। मुजफ्फरपुर में बालिका गृह चलाने वाले गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) को कालीसूची में डाल दिया गया है और लड़कियों को पटना एवं मधुबनी के बालिका गृहों में स्थानांतरित कर दिया गया है। स्थानीय पुलिस ने मामले में बालिका गृह की महिला कर्मचारियों और एनजीओ चलाने वाले ब्रजेश ठाकुर को गिरफ्तार किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close