अमेरिका

ग्लोबल मीडिया कॉम्पैक्ट का गठन, भारत का सूचना-प्रसारण मंत्रालय भी शामिल

ग्लोबल मीडिया कॉम्पैक्ट के गठन के लिए  दुनिया भर से 30 से अधिक संगठन एक साथ सामने आए जिनमें भारत का सूचना-प्रसारण मंत्रालय भी शामिल है।

संयुक्त राष्ट्र। ग्लोबल मीडिया कॉम्पैक्ट के गठन के लिए  दुनिया भर से 30 से अधिक संगठन एक साथ सामने आए जिनमें भारत का सूचना-प्रसारण मंत्रालय भी शामिल है। टिकाऊ विकास लक्ष्यों (एसडीजी) के प्रति जागरुकता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से  ग्लोबल मीडिया कॉम्पैक्ट एक नई मुहिम है। वर्ष 2015 में दुनिया भर के नेताओं ने सर्वसम्मति से इसे स्वीकार किया था।इस लक्ष्य को पाने की खातिर कॉम्पैक्ट में दुनिया भर की मीडिया एवं मनोरंजन कंपनियों को प्रेरित करने और इनके संसाधान एवं रचनात्मक प्रतिभा का लाभ उठाने की बात कही गई है।

भारत का सूचना-प्रसारण मंत्रालय 30 से अधिक संस्थापक कॉम्पैक्ट सदस्यों में से एक है।चैनल्स मीडिया ग्रुप-नाइजीरिया की अध्यक्ष ओलूसोला मोमोह ने यहां संस्थापक मीडिया संगठनों की ओर से संयुक्त राष्ट्र महासभा से इतर कहा कि एसडीजी मीडिया कॉम्पैक्ट समाचार एवं मनोरंजन मीडिया का एक गठजोड़ है और यह जनसंवाद को प्रोत्साहन देने तथा टिकाऊ विकास लक्ष्यों को हासिल करने के लिए संयुक्त राष्ट्र के साथ काम करने को प्रतिबद्ध है।एसडीजी मीडिया कॉम्पैक्ट के संस्थापक मीडिया संगठनों में 100 से अधिक मीडिया एवं मनोरंजन संगठन शामिल हैं।

संस्थापक कॉम्पैक्ट सदस्यों में अल जदीद टीवी-लेबनान, असाही शिमबुन-जापान, एशिया पैसिफिक इंस्टीट्यूट फॉर ब्रॉडकास्ट डेवलपमेंट, यूरोप में एसोसिएशन ऑफ कमर्शियल टीवी, चाइना मीडिया ग्रुप, डेली स्टार अखबार- लेबनान, डेली ट्रिब्यून-फिलीपीन, डॉयचे वेले-जर्मनी, काथीमेरीनि-यूनान, एलबीसीआई टीवी-लेबनान, निक्कन कोगयो शिमबुन-जापान, तास-रूस, दिस डे-नाइजीरिया, टीवीसी-कम्युनिकेशंस-नाइजीरिया, टीवी-ब्रिक्स-रूस और वीडीएल रेडियो-लेबनान शामिल हैं

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close