जम्मू कश्मीर

अमरनाथ यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं के हौसले बुलंद, पार किया एक लाख का आंकड़ा

अमरनाथ यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं के हौसले बुलंद है। देश के विभिन्न हिस्सों से हजारों श्रद्धालुओं के जम्मू पहुंचने का सिलसिला जारी है।

जम्मू। अमरनाथ यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं के हौसले बुलंद है। देश के विभिन्न हिस्सों से हजारों श्रद्धालुओं के जम्मू पहुंचने का सिलसिला जारी है। मंगलवार सुबह बाबा अमरनाथ यात्रा के लिए 5144 श्रद्धालुओं का जत्था पहलगाम और बालटाल के लिए रवाना हुआ। श्री अमरनाथ यात्रा ने सोमवार को एक लाख का आंकड़ा पार कर लिया।

यात्रा के आधार शिविर यात्री निवास भगवती नगर से रवाना हुए 5144 श्रद्धालुआें में से 1822 श्रद्धालु बालटाल और 3322 पहलगाम रूट से यात्रा पर गए। अब तक पवित्र गुफा में शिवंलिग के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या एक लाख का आंकड़ा पार कर गई है। यात्रा 28 जून से शुरू हुई थी, जो 26 अगस्त रक्षा बंधन वाले दिन संपन्न होगी।

पार किया एक लाख का आंकड़ा
श्री अमरनाथ यात्रा ने सोमवार को एक लाख का आंकड़ा पार कर लिया। यात्रा के 12वें दिन 9606 श्रद्धालुओं ने पवित्र गुफा में शिवलिंग के दर्शन किए। इसके साथ ही अब तक 104018 शिवभक्तों ने अपनी यात्रा पूरी कर ली। श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी उमंग नरूला और अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी भूपेंद्र कुमार ने यात्रा प्रबंधों की समीक्षा कर राज्यपाल को बताया कि पहले 11 दिनों में तीन दिन यात्रा को खराब मौसम के कारण स्थगित किया गया

सुरक्षा कारणों से जम्मू से एक बार यात्रा को रवाना नहीं किया गया। अमरनाथ यात्रा 30 जून, चार जुलाई और पांच जुलाई को बालटाल और पहलगाम से रोकी गई। बालटाल मार्ग पर भूस्खलन होने के कारण यात्रा को 29 जून और छह जुलाई को रोका गया। उन्होंने कहा कि यात्रियों को सुरक्षित पहुंचाने के लिए नौ माउंटेन रेस्क्यू टीमें तैनात की गई हैं। बाबा अमरनाथ यात्रा के ट्रैक के खराब होने व यात्रा को लेकर जानकारी देने के लिए पंजीकृत यात्रियों को एसएमएस भेजने की प्रक्रिया शुरू की गई है। हिंदी में भी एसएमएस भेजे जा रहे हैं।

गौरतलब है कि आतंकी बुरहान वानी की बरसी पर सुरक्षा कारणों से रविवार को स्थगित रही अमरनाथ यात्रा सोमवार को बहाल हो गई। 7563 श्रद्धालु बाबा बर्फानी के दर्शन को गुफा की ओर रवाना हुए। पहलगाम से 4769 और बालटाल रूट से 2794 श्रद्धालु पवित्र गुफा की तरफ रवाना हुए। ऊधर, जम्मू में यात्री निवास से तड़के 5940 श्रद्धालुओं का जत्था निकला। हिजबुल मुजाहदीन के कमांडर बुरहान की दूसरी बरसी पर रविवार को अलगाववादियों के बंद के आह्वान पर प्रशासन ने पहलगाम से यात्रा रोक दी थी। जम्मू से भी श्रद्धालुओं को नहीं आने दिया। बालटाल से यात्रा जारी थी। सोमवार को पहलगाम से यात्रा बहाल की गई। सोमवार शाम 5:30 बजे तक 3466 श्रद्धालु हिमलिंग के दर्शन कर लौट आए थे। जम्मू में यात्रा के आधार शिविर यात्री निवास भगवती नगर जम्मू से सुबह 229 गाडि़यों में 5940 श्रद्धालु पहलगाम व बालटाल के लिए रवाना हुए।

इसमें पहलगाम से 2966 और बालटाल रूट से जाने वाले 2974 श्रद्धालु शामिल थे। 28 जून से शुरू हुई यात्रा रक्षाबंधन वाले दिन 26 अगस्त को संपन्न होगी। इस बीच देश के कोने कोने से श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। हिमलिंग के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या करीब एक लाख पहुंच गई है। राज्यपाल एनएन वोहरा के निर्देश पर श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड और प्रशासन नियमित तौर पर यात्रा प्रबंधों का जायजा ले रहे हैं।

कुलगाम में बस पलटी, दो श्रद्धालुओं की मौत

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले के काजीगुंड इलाके में सड़क हादसे में दो अमरनाथ श्रद्धालुओं की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार घटना सोमवार तड़के उस समय घटी जब जम्मू से पहलगाम की तरफ जा रही बस चालक के नियंत्रण से बाहर होकर सड़क पर पलट गई। घटना में दो श्रद्धालुओं की मौत और चार अन्य लोग घायल हो गए। मृतकों की पहचान गौरव बराद और विनोद कुमार (दोनों लुधियाना के निवासी हैं)। घायल श्रद्धालुओं का जिला अस्पताल अनंतनाग में उपचार चल रहा है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Close